मौत से पहले छात्रों ने ली सेल्फी, फिर हुए दर्दनाक हादसे के शिकार


​लुधियाना। मौत कब, कहां, किसे आ जाए, किस को खबर। अब इस बच्चों को जरा भी एहसास रहा होता कि ये जो मस्ती वे कर रहे है वो लाइफ की आख़िरी मस्ती होगी तो वे जरुर संभल गए होते।

दरअसल, पूरा मामला लुधियाना के साउथ सिटी रोड का है जहां ओवरस्पीड होंडा सिटी कार सड़क के किनारे पत्थर से टकराने के बाद अनियंत्रित होकर 8 फीट ऊपर पेड़ से टकरा गई। जिससे कार में सवार दो लड़कियों और दो लड़कों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि पीछे की सीट पर बैठा लड़का गंभीर रूप से जख्मी हो गया।

चंद मिनट पहले ली थी सेल्फी

हादसे से चंद मिनट पहले ही पांचों ने पुली पर रुककर फोटो ली थी। जिसके बाद उन्होंने कार चलाई और साथ में वीडियो बनानी शुरू कर दी जिसे स्नैप चैट पर अपलोड करने के बाद हुआ हादसा।

हादसे से पहले गा रहे थे गाना

हादसे के चंद मिनट पहले इन सब ने उस मस्ती भरे पल को अपने फ़ोन में कैद कर सोशल मीडिया पर वायरल किया था जिसमे पांचों स्टूडेंट्स ऊंची आवाज में ‘लिखे जो खत तुझे…’ गीत लगाकर झूम रहे हैं। उक्त फोटो और दो मिनट की वीडियो उन्होंने सिधवां नहर रोड पर ही बनाई जिसके बाद ये हादसे के शिकार हो गए।
जानकारी अनुसार करीब दोपहर 2.15 बजे के हुआ यह हादसा इतना भयानक था कि कार चला रहे गौरीश वर्मा का भेजा पेड़ के तने से चिपक गया और एक लड़की जो आगे बैठी थी उसके चीथड़े उड़ गए। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कार की स्पीड 150 किमी प्रति घंटा रही होगी और कार सवार सभी लड़के नशे में धूत थे। हादसा इतना जोरदार था कि कार हादसे के बाद कार टुकड़ों-टुकड़ों में बंट गई। रास्ते में लोगों ने कार की स्पीड देख बोला भी था कि संभल के, पर ये लोग शराब के नशे में टल्ली थे और बेपरवार होकर कार भगाए पड़े थे।

इंजन के नीचे पड़े अक्षित, ईशानी की चल रही थी सांस

जैसे ही हादसा हुआ तो राहगीर भागकर कार के पास पहुंच गए तो देखा कि कार का इंजन टूट कर एक लड़के (अक्षित) के ऊपर आ गिरा है। लोगों ने जैसे तैसे उसके ऊपर से इंजन हटाया और उसे कार में डालकर अस्पताल ले गए जिसका अभी भी उपचार चल रहा है। लोगों ने ईशानी की सांस चलती देख उसे बाहर निकाला और उसे बचाने का प्रयास किया पर सफलता हाथ नहीं लगी और उसकी मौत हो गई।

हादसे के कुछ देर बाद थाना मुल्लांपुर की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर लोगों की मदद से कार में से लाशों को बाहर निकाला। पुलिस के अनुसार मरने वालों की पहचान सिविल लाइंस के वृंदावन रोड के रहने वाले संयम अरोड़ा, गौरीश वर्मा, रीशिका बस्सी और मालीगंज की ईशानी जिंदल के रूप में हुई है।जबकि अक्षित ग्रोवर(24) अस्पताल में उपचाराधीन है।

पुलिस ने चारों की लाश को सिविल अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और कार सवारों ने शराब पी थी कि नहीं इसके बारे में पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पता चल पाएगा।

Advertisements
This entry was posted in Ankushsalaria information. Bookmark the permalink.