भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली 

 भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली 

नई दिल्ली। भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली का मानना है कि हर किसी में कोई न कोई कमी होती है, लेकिन जो इन पर सफलतापूर्वक काम करता है वह एक शीर्ष स्तर के क्रिकेटर से जिस तरह की निरंतरता की उम्मीद की जा सकती है उसे हासिल कर सकता है। कोहली ने 2016 में टेस्ट क्रिकेट में 1215 रन, जबकि सभी तरह के प्रारूपों में मिलाकर 2500 से ज्यादा रन बनाए हैं। कोहली ने भारत के लिए हर प्रारूप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और उनका मानना है कि यह अपने खेल को बेहतर तरीके से समझने से जुड़ा हुआ है।

कोहली ने कहा, ‘यह मेरा अपने खेल को पहले की तुलना में ज्यादा बेहतर तरीके से समझने से जुड़ा हो सकता है। मुझमें जो योग्यता है मैं उससे खुश हूं। मुझमें कुछ कमियां भी हैं। मैं अपनी कमजोरी और ताकत को अच्छी तरह जानता हूं। यह सही संतुलन हासिल करने से भी जुड़ा हुआ है। लोग किसी तरह की कमी नहीं होने की बात करते हैं, लेकिन यह गलत है। हर किसी में कुछ कमियां होती हैं और निरंतरता पाना कुछ और नहीं, बल्कि इन कमियों से पार पाकर टेस्ट क्रिकेट में अपने खेल के अनुरूप रन बनाने की क्षमता हासिल करना है। मेरा खेल जिस तरह से आगे बढ़ रहा है उससे मैं खुश हूं।

कोहली ने रीयल मैड्रिड के सुपरस्टार क्रिस्टियानो रोनाल्डो से प्रेरणा ली है जिनकी कार्यशैली का वह अनुसरण करना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘जिस तरह से रोनाल्डो पिछले कई वर्षों से शीर्ष पर काबिज हैं उसका कारण सिर्फ कड़ी मेहनत है। मैंने सुना है कि वह दुनिया में सबसे कड़ी मेहनत करने वाले फुटबॉलर हैं और इसलिए वह उस स्थान पर हैं। मेसी जीनियस हैं, लेकिन वह (रोनाल्डो) अपनी कड़ी मेहनत के कारण उन्हें जबर्दस्त चुनौती देते हैं।

Advertisements
This entry was posted in Ankushsalaria information. Bookmark the permalink.