पंजाब की धरती का इतिहास 

पंजाब की धरती बहुत उपजाऊ है। पंजाब का शब्द का अर्थ पंच+आब। पंच का अर्थ पांच नदियां । और आब का अर्थ धरती। पांच नदियों की धरती। पंजाब में पांच दोआबा हैं। दोआबा शब्द दो नदियों के बीच के भाग को कहते हैं । 

  1. रचना दोआब: रावी और चिनाब के बीच के इलाके को रचना दोआब कहा जाता है इसका मुख्य प्रदेश गुजरावाला हैं। 
  2. चज दोआब: चिनाब और जेहलम के बीच के इलाके को चज दोआब कहते है इसका मुख्य प्रदेश गुजरात हैं। 
  3. बारी दोआब: ब्याज और रावी के लिए बीच के इलाके को बारी दोआब कहते हैं। इसका मुख्य प्रदेश अमृतसर हैं । 
  4. बिस्त दोआब: ब्याज और सतलुज के बीच के इलाके को बिस्त दोआब कहते हैं । इसका मुख्य प्रदेश जालंधर हैं । 
  5. सिंध सागर दोआब: सिंध और जेहलम के बीच के इलाके को सिंध सागर दोआबा कहते हैं। इसका प्रमुख इलाका कराची हैं । 
Advertisements
Gallery | This entry was posted in Ankushsalaria information. Bookmark the permalink.